मीडिया जगत से जुड़ी खबरें भेजे,Bhadas2media का whatsapp no - 9411111862

उत्तराखंड में कवरेज कर रहे पत्रकारों और महिला पुलिस कर्मी की नोकझोंक

 उत्तराखंड में कवरेज कर रहे पत्रकारों और महिला पुलिस कर्मी की नोकझोंक

लालकुआं। रेलवे सुरक्षा बल द्वारा गौला रोड रेलवे क्रॉसिंग के नीचे से निकलने वाली बाइकों के खिलाफ चलाए गए धरपकड़ अभियान के दौरान हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ता की गाड़ी छोड़ने को लेकर व्यापार मंडल अध्यक्ष दीवान सिंह बिष्ट द्वारा उक्त कार्रवाई का संचालन कर रही महिला उपनिरीक्षक से गाड़ी छोड़ने को कहने के दौरान हुई बहस के बाद महिला उपनिरीक्षक द्वारा व्यापार मंडल अध्यक्ष को उठाकर बंद करने की धमकी देने से व्यापारियों में आक्रोश व्याप्त हो गया, और देखते ही देखते भारी संख्या में एकत्रित व्यापारियों की भीड़ ने रेलवे पुलिस की उक्त कार्रवाई का भारी विरोध शुरू कर दिया,
इस दौरान मामले की कवरेज कर रहे कुछ पत्रकारों से भी महिला उपनिरीक्षक की तीखी नोकझोंक हुई, जिससे माहौल और गरमा गया। लगभग एक घंटा चले हंगामे के बाद मौके पर पहुंचे नगर के गणमान्य लोगों और आरपीएफ के अधिकारियों ने समझा-बुझाकर दोनों पक्षों को शांत किया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बुधवार की प्रातः रेलवे सुरक्षा बल द्वारा क्रॉसिंग बंद होने के दौरान गौला रोड रेलवे क्रॉसिंग के नीचे से दोपहिया वाहन निकाल कर ले जाने वालों की धरपकड़ का अभियान चलाया था, इसी बीच अपने घर से आ रहे वार्ड नंबर 5 निवासी हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ता राज किरन सेतिया की मोटरसाइकिल उक्त अभियान चला रही महिला उपनिरीक्षक मनीषा मीणा ने पकड़ ली, इसी बीच लाइनपार क्षेत्र से आ रहे व्यापार मंडल के अध्यक्ष दीवान सिंह बिष्ट को उक्त लोगों ने बताया कि महिला उपनिरीक्षक द्वारा हिंदूवादी कार्यकर्ता की मोटर बाइक पकड़ी गई है जिस पर व्यापार मंडल अध्यक्ष ने अपना परिचय उक्त महिला उप निरीक्षक को देते हुए पकड़ी गई मोटरबाइक छोड़ने की अपील की, जिस पर महिला उपनिरीक्षक ने बाइक छोड़ने से साफ इनकार कर दिया, जिसे लेकर दोनों पक्षों में बहस होने लगी और इसी बहस के दौरान महिला उपनिरीक्षक ने व्यापार मंडल अध्यक्ष से कहा कि अधिक नहीं बोले अन्यथा उन्हें भी उठाकर बंद कर देगी, इतना सुनते ही उपस्थित व्यापारी आक्रोशित हो उठे और उन्होंने आरपीएफ के विरुद्ध हंगामा शुरू कर दिया, और देखते ही देखते भारी संख्या में व्यापारी मौके पर एकत्र होने लगे, और भारी संख्या में आरपीएफ तथा सिविल पुलिस के जवानों को भी मौके पर बुला लिया गया। लगभग 1 घंटे तक इसी प्रकार जब हंगामा चलता रहा तो आरपीएफ के प्रभारी निरीक्षक तरुण वर्मा एवं लालकुआं कोतवाली के उपनिरीक्षक चंद्रशेखर जोशी ने व्यापारियों एवं आरपीएफ की महिला उपनिरीक्षक को समझा-बुझाकर बमुश्किल शांत किया, जिसके बाद आरपीएफ के जवान उक्त हिंदूवादी कार्यकर्ता की मोटर बाइक लेकर कोतवाली आरपीएफ को रवाना हो गए। इस दौरान जहां प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष दीवान सिंह बिष्ट का कहना है कि उन्होंने महिला उपनिरीक्षक से केवल निवेदन किया था परंतु वह लड़ने भिड़ने को आमादा थी, तथा अभद्र भाषा का प्रयोग कर रही थी, जिससे व्यापारियों में आक्रोश व्याप्त हो गया। उन्होंने बताया कि उक्त उपनिरीक्षक कवरेज कर रहे पत्रकारों से भी अभद्रता पर उतर आई और उनके कैमरे छीनने के लिए आरपीएफ कर्मियों को कहने लगी, जिससे पत्रकार भी आक्रोशित हो उठे।
वही रेलवे सुरक्षा बल के प्रभारी निरीक्षक तरुण वर्मा ने बताया कि रेलवे क्रॉसिंग परिसर से बंद फाटक के दौरान बाइक निकाल रहे उक्त राज किरन सेतिया की बाइक का चालान किया जा रहा है, तथा रेलवे सुरक्षा बल भविष्य में रेलवे क्रॉसिंग के नीचे से बंद बैरियर के दौरान दो पहिया वाहन निकालने वालों के खिलाफ धरपकड़ अभियान जारी रखेगा।
व्यापार मंडल अध्यक्ष से अभद्रता करने पर मौके पर पहुंचने वाले व्यापारी नेताओं में प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के महामंत्री दिनेश लोहनी, उपाध्यक्ष नंदन सिंह राणा, संजय जोशी, रवि अनेजा, भाजपा मंडल अध्यक्ष नारायण सिंह बिष्ट, महामंत्री राजकुमार सेतिया, राधेश्याम यादव, मोहम्मद हफीज सहित भारी संख्या में व्यापारी मौजूद थे।

पत्रकार मुकेश कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published.