मीडिया जगत से जुड़ी खबरें भेजे,Bhadas2media का whatsapp no - 9411111862

पाँच हजार लाओ पत्रकार बन जाओ

 पाँच हजार लाओ पत्रकार बन जाओ

हरिद्वार में 5000 रुपये देकर बने जर्नलिस्ट न डिप्लोमे कि जरूरत न डिग्री की।

उत्तराखंड व हरिद्वार के युवाओं लिए एक बड़ी खुशखबरी है वो अब मात्र 5000 रुपये देकर बाकायदा जर्नलिस्ट बन सकते है।किसी भी शिक्षण संस्थान में अब उन्हें पत्रकार बनने के लिए लाखों रुपये खर्च करने की जरूरत नही । ओर न ही सालभर अपना समय खराब करने की जरूरत है।इतना ही नही बस आपको मिलना होगा एक गैंग से जो मात्र एक घण्टे में 2500 से 5000 रुपये लेकर सीधे आपको जर्नलिस्ट का पहचान पत्र दे देगा। बाकायदा आपकी ट्रेनिंग भी होगी।और सूचना विभाग में आपका नियुक्ति पत्र भी दाखिल किया जाएगा।वो बात अलग है कि इस नियुक्ति पत्र की सही जानकारी सिर्फ उसी को होगी जिसके हाथ मे 5000 रुपये दिए जाते है।

धर्म नगरी हरिद्वार में कुछ तथाकथित पत्रकारों द्वारा एक ऐसा धंधा चलाया जा रहा है जिसने पत्रकार बनाने का खेल खेला जा रहा है।इनके द्वारा उन लोगो को निशाना बनाया जा रहा है जो पत्रकारिता क्षेत्र में आना चाहते है।लेकिन समस्या ये है कि जो लोग पत्रकारिता करनी चाहते है।उन्हें यह समंझ नही की पत्रकारिता में दाखिल कैसे होना है।ओर इसी अज्ञानवस पत्रकार बनाने के चलते इनकी जेब ढीली कर दी जाती है।
दुर्भाग्य ये है कि इस पूरे झमेले की जानकारी न तो हरिद्वार प्रसाशन को है और न ही उन वरिष्ठ पत्रकारों को जिनके कारण पत्रकारिता को लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ कहा जाता है। लेकिन पत्रकारिता का व्यापार कर रहे तथाकथित आज पत्रकारिता को किस मोड़ पर ले आये है।इससे कोई अंजान नही।

एक पीड़ित पत्रकार का दर्द

भड़ास 2मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! पत्रकार और मीडिया जगत से जुडी और शिकायत या कोई भी खबर हो तो कृप्या bhadas2medias@gmail.com पर तुरंत भेजे अगर आप चाहते है तो आपका नाम भी गुप्त रखा जाएगा क्योकि ये भड़ास2मीडिया मेरा नहीं हम सबका है तो मेरे देश के सभी छोटे और बड़े पत्रकार भाईयों खबरों में अपना सहयोग जरूर करे हमारी ईमेल आईडी है bhadas2medias@gmail.com आप अपनी खबर व्हाट्सप्प के माध्यम से भी भड़ास2मीडिया तक पहुंचा सकते है हमारा no है 09411111862 धन्यवाद आपका भाई संजय कश्यप भड़ास2मीडिया संपादक  

Leave a Reply

Your email address will not be published.