मीडिया जगत से जुड़ी खबरें भेजे,Bhadas2media का whatsapp no - 9411111862

आरोप लगते हैं कि भाजपा ने पत्रकारों की बड़ी लाबी, अखबार और चैनलों को अपने पक्ष में किया।

 आरोप लगते हैं कि भाजपा ने पत्रकारों की बड़ी लाबी, अखबार और चैनलों को अपने पक्ष में किया।

भाजपा अपने प्रचार तंत्र की इस चूक का नुक़सान उठा रही है 

करीब दर्जन भर प्रभावशाली यू ट्यूब चैनलों की डिबेट में बीस-तीस जाने-पहचाने पत्रकार यूपी चुनाव में भाजपा के पिछड़ने का विश्लेषण पेश कर रहे हैं। इन चैनलों की कई मिलियन लोगों तक पंहुचा है।जिससे चुनावों के अगले चरणों का प्रभावित होना लाज़मी है। ऐसे नुकसान से बचने के लिए इतने कम समय में कोई उपाय भी नहीं सूझ रहा होगा।

Bhadas2media का whatsapp no, 9411111862

पार्टी को चुनाव में नुकसान के विश्लेषण के काउंटर के लिए भाजपा के पास प्रर्याप्त यूट्यूब चैनल्स नहीं हैं। सच ये है कि भाजपा की ताकतवर आईटी सेल इन चैनलों को ज़रा भी काउंटर नहीं कर पा रही है। वजह ये है कि आईटी सेल को पर्दे के पीछे से काम करना पड़ता है जबकि विशेषकर भाजपा की कमजोरियां पर ही केंद्रित इन यूं ट्यूब चैनलों की ताकत बरसों से स्थापित पत्रकार या चर्चित पर्दे के सामने हैं।

भाजपा की प्रगति में सोशल मीडिया (सशक्त आईटी सेल) की अहम भूमिका रही। आरोप लगते हैं कि भाजपा ने पत्रकारों की बड़ी लाबी, अखबार और चैनलों को अपने पक्ष में किया। लेकिन जाने-पहचाने चेहरों वाले पत्रकारों के साथ भाजपा ने यूट्यूब चैनलों का जाल नहीं बिछाया। शायद पार्टी के रणनीतिकार ये मान बैठे थे कि सोशल मीडिया, फेसबुक और यूं ट्यूब इत्यादि पर आईटी सेल क़ाबिज़ रहेगा ही। बाक़ी बड़े पत्रकार और मुख्य धारा की व्यवसायिक मीडिया तो उनके पक्ष में माहौल बनाती ही रहेगी। ये रणनीति तो ठीक थी पर भाजपा के मीडिया सलाहकारों ने ये अनुमान नहीं लगाया था कि प्रतिष्ठित, अनुभवी, जाने-पहचाने चेहरे वाले पत्रकारों का एक समूह भाजपा की कमियों-कमजोरियो़ पर आधारित यूं ट्यूब चैनलों का जाल बिछाकर करोड़ों दर्शकों को जोड़ लेगा।
हो सकता है कि देर आए दुरुस्त आए कि कहावत को चरितार्थ करते हुए भाजपा के मीडिया रणनीतिकार आइंदा अपनी आईटी सेल पर ही निर्भर न रहे बल्कि कुछ स्थापित और प्रतिष्ठित पत्रकारों के साथ यू ट्यूब चैनलों का सिलसिला भी शुरू करे

– नवेद शिकोह वरिष्ठ पत्रकार

Leave a Reply

Your email address will not be published.